Haryana Mera Pani Meri Virasat Yojana 2020 मे Online Registration कैसे करे ?

      Comments Off on Haryana Mera Pani Meri Virasat Yojana 2020 मे Online Registration कैसे करे ?

Haryana Mera Pani Meri Virasat Yojana 2020 के तहत अब खेडूत को प्रति एकड़ 7000 रुपिए मिलेंगे । 

Haryana Mera Pani Meri Virasat Yojana 2020 :   हरियाणा सरकार ने  6 मई 2020 के दिन हरियाणा सरकार ने  kishan yojana लोंच की है । जिसका नाम है  HR MERA PANI MERI VIRASAT Yojana को शुरू की है।

हरियाणा मेरा पानी – मेरी विरासत योजना को लोंच  करते वक्त  हरियाणा के मुख्यमंत्री श्रीमान मनोहरलाल खटटर जी ने अपने भाषण मे बताया की  जेसे की हम अपनी जमीन को आपने बच्चो को विरासत के रूप मे देते है । उसी प्रकार हम को जल का संरक्षण भी करना आवश्यक है ताकि आने वाली पेढ़ी भी सुरक्शित रहे।

HARIYANA MERA PANI MERI VIRASAT YOJANA

जेसे की हमारे माननीय प्रधानमंत्रीजी का ने एक लक्ष्य निर्धारित किया है की 2022 तक किसानो की  आमदनी को दोगुनी करने लक्ष्य निर्धारित किया है ।

मनोहरलाल खट्टर जी ने  प्रधानमंत्री जी के लक्ष्य को सपोर्ट करने के लिए Mera Pani Meri विरासत योजना लोंच की है ।

हरियाणा के मुख्यमंत्री जी श्रीमान  मनोहर लाल खट्टर जी ने 19 एसे ब्लॉको का चयन किया है ।   जिस ब्लॉग का चयन  वह के पानी स्तर के मुताबित किया गया है ।

इस स्तर पर धान रोपाई  की जाती है ।

धान की बुआई करने पर किसानो को 7000 एकड़ प्रोत्साहन

HR MERI PANI MERI VIRASAT YOJANA का उदघाटन  6 मई  2020 के दिन हरियाणा राज्य के मुख्यमंत्री श्रीमान  मनोहर लाल खट्टर जी ने  शुरू की है।

मेरा पानी मेरा विरासत योजना का मुख्य उद्धेश्य आने वाली पेढ़ी के लिए जल को संरक्षित और सुरक्षित रखना ।

इस योजना  के शुरू करते वक्त मुख्यमंत्री श्रीमान मनोहर लाल खट्टर  जी ने यह भी निर्देश किया की Hariyana Mera PANI Meri Virasat जेसी योजना अन्य राज्य मे भी शुरू की जानी चाहिए।

Mera Pani Meri virasat Yojana के तहत एसे 19 क्षेत्र का चयन किया गया जहा पानी का स्तर 40 मीटर से गहरा हो ।

इन 19 क्षेत्र मे अभी भी कृषि की जाती है इनमे से 9 ब्लॉक एसे है जहा धान की फसल अभी भी की जाती है ।

इस लिए मुख्यमंत्री श्रीमान मनोहर लाल खट्टर सरकार ने एक फैसला लिया।

जिसके मुताबित जिस जगह पर पानी का स्तर 35 से ज्यादा है।

और जमीन पंचायत के अंदर मे आती है। तो एसी जमीन पर धान की फसल पर रोक लगा दी ।

उस के साथ साथ अन्य क्षेत्र के किसान  जिन्हों ने धान की बुहाई को छोड़ कर ।

अन्य फसल दाल , मक्का, कपास इतियादी फसल करता है ।

तो उसे मेरा पानी मेरी विरासत योजना के तहत  उन किसानो को भी इस योजना का लाभ मिलेंगा।

इस के लिए आप को  mera paani Meri Virasat  योजना के तहत  आवेदन  करना होंगा।

और आप को इस योजना के तहत प्रति एकड़ 7000  [सात हजार]  रूपिये  का लाभ आप को मिलेंगा।

हरियाणा Mera Pani Meri Virasat Yojana के तहत online Registration के लिए  आवश्य दस्तावेज़

 

अगर आप मेरा पानी मेरी विरासत योजना के लिए ऑनलाइन पंजीकरण करते है ।

तो सबसे पहेले आप को जरूरी दस्तावेज़ आपको आपने पास रखना आवश्यकता पड़ेंगी तों उनकी सूची नीचे है ।

  • आधार कार्ड
  • मोबाइल नंबर
  • किसान कार्ड
  • बैंक पास बूक
  • पासपोर्ट साइज़ फोटो ग्राफ
  • बैंक पास बूक
  • आप का निवास का प्रमाण पत्र

Benefit of Hariyana Mera Pani Meri Virasat Yojana

 

हरियाणा मेरा पानी मेरी विरासत  योजना की प्रमुख विशेषता क्या है ?  

हरियाणा राज्य सरकार ने अभी अभी  किसान योजना  शुरू की है ।  जिसका एक उद्देश्य किसान की आवक को 2022 तक दुगनी करने का है ।

HR MERA PANI MERI YOJANA का मुख्य उद्देश्य भूमि विस्तार मे जल स्तर का संरक्षण करना है ।

इस योजना का लाभ उन किसानो को मिलेंगा जो धान खेती की बुहाई छोडकर  अन्य फसल की बुहाई शुरू करे ।

इस योजना के तहत हरियाणा स्टेट मे एसे 19 विस्तार का चयन किया है।

उस जगह पर पानी  यानि जल का स्तर 40 मीटर से ज्यादा  है ।

वहा धान की बुहाई की जाती है ।

हरियाणा सरकार ने एसी पंचायत विस्तार की जमीन  जहा पानी का स्तर 35 मीटर से ज्यादा है।

उस पर धान्य पाक की बुहाई पर प्रतिबंध लगाई है ।

मेरा पानी  मेरी विरासत योजना के अनुसार इस किसान योजना का लाभ पंचायत स्तर पर सीधे लाभ मिलेंगा।

इस योजना के तहत जो किसान धान की बुहाई (फसल) छोड़ कर अन्य कोई भी फसल करता है।

तो उस किसान को 7000 रुपये प्रति एकड़ के हिसाब से प्रोत्साहन राशि हरियाणा सरकार देंगी।

राज्य सरकार ने धान की फसल की जगह पर  दाल , कपास और सभी फसलों  के लिए सरकार न्यूनतम समर्थन मूल्य रखने का फैसला लिया है ।

हरियाणा सरकार फसल के लिए अच्छे बीज और कृषि उपकरण की व्यवस्था भी करेंगे।

मेरा पानी मेरी विरासत योजना के तहत यदि कोई भी किसान सिंचाई और ड्रीप सिंचाई प्राणांलि  से सिंचाई करता है ।

तो उसके मुताबित  80% अनुदान की रकम  मिलेंगी ।

हरियाणा सरकार ने इस किसान योजना एसे क्षेत्र भी शामिल किए गए है  उनमे  50 होर्ष पावर से अधिक क्षमता वाले ट्यूबवेल का इस्तेमाल होता है ।

Haryana Mera Pani Meri Virasat Yojana 2020 के लिए Online Registration कैसे  करे?

हरियाणा मेरा पानी मेरी विरासत  योजना के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन प्रोसैस के लिए आप को सब से पहेले  ओफिसियल वैबसाइट पर जाना पड़ेंगा।

इस योजना  की official साइट अभी तक लॉन्च नहीं हुई है । 

जब भी ऑनलाइन वेबसाइट लॉन्च लोंगी आप को यहा इस साइट पर जान कर दी जाएंगी

 

  1. सब से पहेले आप को official link  पर जाये।
  2. उसके बाद आप को अपनी पूरी detail स्टेप by step भरना पड़ेंगा ।
  3. आप को अपनी जमीन का आकर्णी नंबर भी लिखना पड़ेंगा।
  4. आप को आफ्ना आधार कार्ड का नंबर भी लिखना पड़ेगा।
  5. किसान क्रेडिट कार्ड का नबर और बेंक अकाउंट की डिटेल्स भी भरनी पड़ेंगी ।
  6. फिर आप को सबमिट बटन पर क्लिक करे ।
  7. आप के मोबाइल पर रजिस्ट्रेशन सक्सेसफुल्ली का मेसेज भी आ जाएंगा।

 

दोस्तो  ध्यान रहे आप को आफ्ना मोबाइल नम्बर , बेंक डीटेल सही डालनी है ।

क्यू की आप के अकाउंट  Direct Benefit Transfer के through आप के खाते मे प्रति एकड़ 7000 रुपये के हिसाब से राशि जमा कर दी जाएंगी ।

Haryana Mera Pani Meri Virasat Yojana 2020 का ऑफलाईन आवेदन केसे करे?

इस योजना  का ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन अभी तक शुरू नहीं हुआ ।

तो आप ओफलाइन भी यह योजना का लाभ ले सकते है ।

जेसे की आप को सब से पहेले आप ने गाँव की पंचायत  मे जाना पड़ेंगा।

मेरा पानी मेरी विरासत योजना का पंचायत मे आप को offline  फॉर्म भरना पड़ेंगा।

इस योजना के तहत जरूरी कागजात की फोटो कॉपी  फॉर्म के साथ अटैच करे ।

और फिर पंचायत मे जमा करवाए।

हमारे साथ दूसरी योजना के बारे मे पढे।